सोमवार, 10 नवंबर 2008

में और मेरी नौकरी -पार्ट 7

दोस्तों आज मैं आपको कार्यालय में ८.५ घंटे सफलतापूर्वक और बिजी लगते हुए कैसे बिताएं इसके कुछ गुर बाटूंगा॥

नियम : सदैव मीटिंग में दिखें, कभी बॉस के साथ या कभी टीम के साथ या कभी किसी के भी साथ। दो लोग जब कुर्सी दाल करआमने सामने जब बैठे है तो व्यस्त लगते है। अगर आपके हाथ में कॉपी पेन या लैपटॉप हुआ तब तो सोने पर सुहागा॥ अब कौन चेक करता है की आप कॉपी में क्या लिख रहे हो या लैपटॉप पर क्या देख रहे हो॥

नियम : छुट्टी के दिन को भी वर्क फ्रॉम होम की तरह दिखाएँ। चार पाँच ईमेल ज़रूर भेजे, जो आपके बॉस को कॉपी होनी चाहिए। अब अगर आप खुद बॉस है तो सारे मैनेजर्स को मेल ज़रूर भेजे॥ साथ में अगर २-३ फ़ोन भी चिपका दें साथियों को तो फिर तो सोने पर सुहागा॥ और यह दोनों काम तो आप झपकी लेते हुए या डेट पर होते हुए भी कर सकते है॥

नियम : ऑफिस में हमेशा तेज़ तेज़ चले, आपके जूतों की आवाज दूर तक सुनाई देनी चाहिए। सब काम तेज़ चलते हुए ही करने चाहिए। साथ में ४-५ बार हवा में छोड़ ही देना चाहिए की आज बहुत व्यस्त हूँ..साँस लेने की फुर्सत नही॥ आपको इतना तेज़ चलना चाहिए की आपकी टाई १८० ड़ेग्रीस पर झूमे...अरे अगर आप महिला है तो दुप्पटे या साड़ी से भी यह काम कर सकती है॥

नियम : बिजी दिखने के लिए बहुत ज़रूरी है ki आप टोफ्फी खाने भर की स्मिएल दें या सिर्फ़ १ उंगली से हेल्लो करें या २ उंगली से वेब करें॥ क्युकी नियम 3 के अनुसार आप तेज़ तेज़ चल रहे होंगे तो अगर आप नियम ४ की बातें फोल्लो करेंगे भी तो कोई कुछ कह न पायेगा क्युकी लोग यही समझेंगे की आप इतनी तेज़ी से निकल गए की वोह आकपी पूरी हँसी, हेल्लो या वेब नही देख पाये॥

नियम : ज्यादा से ज्यादा बोस्सेस की कंपनी में वक्त बिताएं..इससे बॉस को भी लगेगा की आप महनत कर रहे है और साथी समझेंगे की आप बहुत व्यस्त हो॥ ज़रा ज़रा सी बात भी बॉस से दिस्कुस्स करें और सीधे से समाधान को इतना घुमाएँ की २-३ घंटे तो दिन के इसी में बीत जाएँ॥

नियम : ज़रा सी बात कर बत्तान्गड़ बनाये॥ और यह बात अगर क्लाइंट ने कही तो फिर तो आप पूरा दिन इसी के सहारे बिता सकते है॥

नियम : अपने कंप्यूटर के स्क्रीन को हमेशा निहारते रहे..और बीच बीच में सोचने की मुद्रा धारण करें या कुछ लिखने या जोड़ने लगे॥ आप बिजी के बिजी भी और ऑफिस में भी चर्चा ..आखिर आप कितना काम करते हो॥ और हाँ आपके स्क्रीन पर कम से कम ८-१० विन्डोज़ तो एक बार में खुली ही होनी चाहिए॥ भले ही उनमे आप देख कुछ भी रहे हो॥

नियम : चाय, काफ़ी या पानी की मशीन पर जो टकरा जाए उससे बड़ीबड़ी ज्ञान की बातें कर दें, अगर आपका शिकार बहस के मूड में न भी हो तब भी बहस करें॥ समय कर समय बीतेगा और आपके ज्ञान के चर्चे भी दूर दूर तक फैलेंगे॥ इस काम को सफलता पूर्वक करने के लिए आपको दिन में कम से कम १०-१२ ऑनलाइन न्यूज़ साईटस तो चाट ही लेनी चाहिए॥

नियम : सीरियस हो कर फ़ोन पर लगे रहने से भी आप कम से कम १-२ घंटे तो बिता ही सकते है॥ जैसे ही कोई सामने पड़े बस आपको करना इतना है ..या या ... इ विल कम बेक तो यू.. या फिर ...लेट में रेविएव एंड रेस्पोंद बेक तो यू॥ ऐसे शब्दों के प्रयोग से आपकी अपनी बीवी/गर्लफ्रेंड से बात भी न टूटेगी और काम कर काम भी॥

नियम १० : सीट पर कम ही बैठे और ऊपर दिए गए नियमों के हिसाब से या तो फ़ोन पर या मीटिंग में या तेज़ तेज़ चलते मिलें॥ लोग हमेशा यही समझेंगे की आप कहीं न कहीं व्यस्त होगें॥

आशा है इन नियमो के पालन से आपका दिन आज से बहतर गुजरेगा॥

10 टिप्‍पणियां:

CoolMood ने कहा…

Ab samjh aaya ki aap KITNA kaam karte hain aur KITNA busy rahte hain!!!!

Yeh raaz kyon khol diya sabke aage.....ab kaun se naye niyamo par chalenge aap??

:)

dcool ने कहा…
इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.
Sanjayneverserious ने कहा…

coolmood & dcool, Asha hai aap log in niyamon ke palan se labhanvit honge.

Krapiya kisi karyalay ka naam na likhe apne comments mein. Dhanyabaad!!

ummed Singh Baid "saadahak " ने कहा…

पैसे सबसे अधिक ले, काम नहीं के जैसा.
है सरकारी आदमी, इसमें अचरज कैसा?
बोलो अचरज कैसा,वह क्यों काम करेगा!
खुद नेता ना करे, तो कोई क्यों करेगा?
कह साधक कविराय, काम कुछ होगा कैसे.
त्याग से बढकर भोग,ज्ञान से बढकर पैसे.

dcool ने कहा…

Ye goodh rahasya hai bhaiya yahan SURVIVABILITY ka !!!

Stuti Pandey ने कहा…

Too GOOOODDDDDDD...!! You are a good observer, I should have changed my seat location :-D

ek do point mein to baksh dete kam se kam!!

Stuti Pandey ने कहा…

ab ye episode likhna band karo nahi to sabki naukri khatre mein pad jayegi.

Dinesh ने कहा…

Kaash! pehle likha hota to mein survive kar gaya hota!!!

Dinesh ने कहा…

aise hi likhte rehna...bahut aacha likhe ho...maza aa gaya...ek aur niyam meri taraf se...time paas karne ke liye ye sanjay blogs are also very effective

Priya Kapoor ने कहा…

The world will recognize your genius one day...
I would say you're our very own Scott Adams. Samay rehtey sabko aapka autograph ke lena chahiye aur ho sakay to photograph bhi khichwa lena chahiye.

Kya pata, aagey jaaa ke mauka miley na miley!!