बुधवार, 18 फ़रवरी 2009

मैं और मेरी नौकरी -पार्ट 11

आदरणीय पाठकों,

पिछले २ माह से न लिखने के लिए खेद प्रकट करता हूँ। अब औपचारिकता तो निभानी ही पड़ती है। वरना आप सभी तो सोच ही रहे होंगे अच्छा हुआ ...एक पकाऊ लेखक से छुटकारा तो मिला। अब आपने पकाऊ कह ही दिया है तो झेलिये फिर से॥

विगत ३-४ माह से इस स्लोदोउन, रेसेसन, लेओफ्फ़ जैसे सब्दो ने तो नाक में दम कर दिया है। विचार आया की आप सबको लेओफ्फ़ से बचाना मेरा धर्म है सो नुस्खे बयां कर रहा हूँ ...

नुस्खा # : इतनी मंदी में जब काम है ही नही तो आप काम करने का दिखावा करके तो नौकरी बचा नही सकते सो आप मैनेजमेंट को यह ज़रूर दर्शायें की आप कोस्ट-कटिंग में उनके साथ है। छोटे छोटे आंकडे अपने पास रखे और रोज़ गाये जैसे की - आज अपने कितने वाट बिजली बचायी..(चिंता न करें ...यह कोई नही जान पायेगा की आप बिजली बंद करके सो रहे थे), आज आपने कितनी छोटी छोटी बात की फ़ोन पर (अब यह किसे पता की हर बार क्लाइंट ने फ़ोन आप पर पटक दिया), आज आपने कोई प्रिंट-आउट नही निकला (अरे ..प्रिंटर की स्याही तो कल के २०० पेज के पर्सनल प्रिंट आउट में ख़तम जो हो गई थी) ॥

नुस्खा # : टॉप मैनेजमेंट के टॉमी बन जाएँ कुछ समय के लिए, और हमेशा दुम हिलाते रहे आगे पीछे॥ किसी भी काम को न ना कहें॥ इसके साथ साथ बार बार यह बताते रहे मैनेजमेंट को ..मंदी बस जाने ही वाली है॥

नुस्खा # : कोई स्कान्देल पकड़ लें या कर दें आपने कार्यालय में ..लेकिन होना इतना बड़ा चाहिए की कार्यालय को आपको निकालने में ही डर लगे॥ उदाहरण स्वरुप ..मैनेजमेंट में किसी के साथ डेट मार लें और डेट की ट्रांसक्रिप्ट आड़े समय के लिए सहेज कर रखे॥

नुस्खा # : अन्दर की बातों के भागी बने..जैसे की HR और एक्कोउन्ट्स वाले होते है॥ आपने शायद ही सुना हो इन लोगों की नौकरी पहले जाते हुए॥

नुस्खा # : यह बात आग की तरह फैलाये पुरे ऑफिस में की मंदी है.. लेकिन आपकी स्किल्लस और एक्सपेरिएंस वाले रेसौर्सस का ज़बरदस्त टोटा है मार्केट में॥ यह तो आप का आपने काम ,से और कंपनी से लगाव है जिसकी वजह से आप रुके हुए है बरना आपको तो दसियों नौकरी के ओफ्फेर्स हैं॥

नुस्खा # : मंदी की मार से बचने के लिए मैनेजमेंट को पैसे बनाने के नए नए जुगाड़ बताएं॥ लेकिन यह ध्यान रहे की इस जुगाड़ पर काम करना सिर्फ़ और सिर्फ़ आपको ही आता हो॥ अगर आपका जुगाड़ काम न भी करे तो क्या ..आप मंदी का रोना फिर रो दे और एक नया जुगाड़ पेश कर दें॥

नुस्खा # : जिनको आपसे ज्यादा इम्पोरतांस मिलती हो या ज्यादा ज्ञान हो या ज्यादा पैसे मिलते हो ...यह सही समय है अपनी खुनस निकलने का ..मैनेजमेंट को रोज़ आग लगायें... इस रोल की आज ज़रूरत नही है ...उस बन्दे का काम तो आप ही कर सकते है...ऐसा रोज़ करने से आपके रस्ते का कांटा भी साफ़ और आपकी नौकरी और भी पक्की॥

नुस्खा # : अगर तनख्वाह में कमी की बात उठे तो आप सबसे पहले हाँ करें। यह कदम उठाने के बाद मैनेजमेंट मजबूर हो जायेगा आपको पुरी मंदी के दौरान झेलने को॥ इससे अच्छा क्या होगा -- न काम करना और ठीक ठाक पैसे भी॥

नुस्खा # : जैसे ही आपको आपने HR वाले सूत्रों से पता चले कि आपका नाम भी छटनी वाली लिस्ट में हैं ..आप तुंरत ही एक ऐसा बिज़नस केस पेश कर दें जिसमे अरबों डोल्लार्स का सपना हो॥ कंपनी इस सपने में जीते हुए आपको कम से कम ४-५ महीने तो झेल ही जायेगी॥

नुस्खा # १० : वैसे तो ऊपर दिए नुस्खे राम बाड़ है लेकिन हमारी मिस्सिएल्स कि तरह कभी न चले तो इसकी तैयारी स्वरुप आप ऑफिस के प्रिंटर, पन्नों, इन्टरनेट और डाटाबेस का भरपूर उपयोग करें आपने लिए एक नया घरोंदा ढूँढने के लिए॥

चलिए आप इन नुस्खों पर अमल करना सीखिए तब तक मैं ज़रा अपनी नौकरी बचा के आता हूँ॥

1 टिप्पणी:

Anjali ने कहा…

Sanjay ..You should have shared this with me a longtime back. Well I they all are really useful and I would make sure that make full use of them to save my naukri...please kuch aur nuske ho tou likhiyega jarur. hehehehe